तुम झोली भरलो भक्तों रंग और गुलाल से। होली खेलांगा आपा गिरधर गोपाल से।।